एसईसीएल हसदेव क्षेत्र में संयुक्त समन्वय सम्मेलन सम्पन्न

Joint coordination conference held in SECL Hasdev region

बिलासपुर,(mediasaheb.com) एसईसीएल वर्ष 2019-20 के उत्पादन लक्ष्य को पूरा करने हेतु हर संभव प्रयास कर रहा है।उत्पादन एवं उत्पादकता पर हरस्तरपर जोर दिया जा रहा है परन्तु कोई भी लक्ष्य समेकित प्रयास से ही प्राप्त किया जा सकता है।एसईसीएल के पास 2019-20 के लिए 170 मिलियन टन कोयला उत्पादन का बड़ा लक्ष्य है।इसे एसईसीएल के समस्त कर्मियों के प्रयत्नों से ही हासिल किया जा सकता है।ऐसे में दिनांक 08.02.2020 को एसईसीएल हसदेव क्षेत्र में संयुक्त समन्वय सम्मेलन का आयोजन किया गया।

इस सम्मेलन में एसईसीएल शीर्ष प्रबंधन, क्षेत्रों के महाप्रबंधक, श्रमसंघ एवं एसोसिएान के प्रतिनिधिगण उपस्थित रहे।इस सम्मेलन में वर्तमान वित वर्ष के उत्पादन लक्ष्य को प्राप्त करने के उपाय एवं भविष्य के कार्य योजना पर चर्चा हुई।

ठस सम्मेलन में अध्यक्ष सहप्रबंध निदेशक ए.पी. पण्डा ने कहा कि कोल इण्डिया लिमिटेड को आगामी वर्षों में एक बिलियन टन कोयला उत्पादन किया जाना है।वर्तमान में कोल इण्डिया के कुल उत्पादन में एसईसीएल का एक चैथाई योगदान है। एसईसीएल की 71 भूमिगत खदानों एवं 23 ओपन कास्ट खदानों से कोयला उत्पादन किया जारहा है। वर्ष 2023-24 में एसईसीएलकैसे 250 मिलियन टन कोयला उत्पादन कर सकता है इस ओर कार्य योजना बनाई गई है।हम सभी परस्पर मिल-जुलकर, संयुक्त प्रयास से कोल इण्डिया एवं मंत्रालय द्वारा दिए गए इस उत्पादन लक्ष्य को पूरा कर सकते हैं।

पर्यावरण पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि पर्यावरण से जुड़े मामलों को कंपनी गंभीरता से देख रही है।उन्हों ने कहा कि सदा की भांति कोयला उत्पादन एवं सभी पैरामीटर में अग्रणी रहने हेतु हमें रचनात्मक एवं सहयोगात्मक रूप से कार्य करते हुए राष्ट्र की ऊर्जा आवयकताओं को पूर्ण करने हेतु समेकित प्रयास करना है।

ठस अवसर पर स्लाइड शो के माध्यम से आगामी 5 वर्षो के उत्पादन-उत्पादकता की कार्य योजना सहित विस्तृत विवरण प्रस्तुत किया गया।बैठक में वर्ष 2023-24 में 250 मिलियन टन कोयला उत्पादन हेतु कार्य योजना पर विस्तृत चर्चाकरते हुए कोल रिजर्व, उत्पादन-उत्पादकता, ओव्हर बर्ड नरिमूवल, उत्पादन प्रोजेकन, पर्यावरण स्वीकृति, रेल कोरिडोर, वेब एवं मोबाईल एप्लीकेांस के संबंध में चर्चा की गयी।

इसमें एसईसीएल के अध्यक्ष सहप्रबंध निदेशक ए.पी. पण्डा, निदेक (कार्मिक) डाॅ. आर.एस. झा, निदेशक तकनीकी (संचालन) आर.के. निगम, निदेशक तकनीकी (यो/परि) एम.के. प्रसाद, निदेशक (वित्त) एस.एम. चैधरी, आर डी सी एम पी डी आई बिलासपुर आई डी नारायण, महाप्रबंधक (कार्मिक/प्राासन) ए.के. सक्सेना, महाप्रबंध कहसदेव क्षेत्र बी.चैधरी, कंपनी संचालन समिति, कम्पनी कल्याण बोर्ड, त्रिपक्षीय सुरक्षासमिति, सिस्टा, एससी एस टी ओबीसी कौ-आ. कौंसिल प्रतिनिधियों, क्षेत्रीय महाप्रबंधकों, विभिन्न िवभागाध्यक्षों की उपस्थितिर ही।

Share This Link