क्वारन्टीन के 14वे दिन जिंदगी की जंग हार गया, ये श्रमिक

The battle of life lost on the 14th day of Quarantine, these workers

रायपुर/मुंगेली, (mediasaheb.com)   जिले के कोरेंटिन सेंटर में रह रहे युवक की तबीयत बिगड़ने के बाद अस्पताल ले जाने के दौरान मौत हो गई| यह युवक मुंगेली जिले के छीतापुर का 22 वर्षीय श्रमिक हैदराबाद से 13 दिन पहले लौटा था, जिसे छीतापुर के कोरेन्टीन सेंटर में रखा गया था|

बताया जा रहा है, इस दौरान उसकी तबीयत बिगड़ गई थी, जिसके बाद उसे कोरेंटिन सेंटर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले गया था|

जहां चिकित्सक ने उसे प्राथमिक उपचार के रूप में दवा दी थी लेकिन इसके बाद भी शुक्रवार रात को उसकी तबीयत ज्यादा बिगड़ गई|

एंबुलेंस नहीं पहुंची तो घबराकर उसके ही कुछ साथी उसे ऑटो में लेकर आज मुंगेली जिला अस्पताल की ओर रवाना हो गए मगर रास्ते में ही युवक ने दम तोड़ दिया|

मामले का दुखद पहलू यह भी है की युवक के साथ ही उसकी गर्भवती पत्नी भी कोरेंटिन सेंटर में रह रही थी|

जिसे प्रसव पीड़ा उठने पर प्रसव के लिए बिलासपुर भेजा गया था लेकिन प्रसव के दौरान उसके बच्चे की भी मौत हो गई थी|

वही उसकी पत्नी की स्थिति भी बेहद नाजुक बताई जा रही है,बच्चे और उसके पिता की मौत हो चुकी है| माँ भी जिंदगी और मौत से संघर्ष कर रही है |

Share This Link